रूमानियत नहीं दोस्ताने की जरूरत है स्त्री पुरुष संबंधों में

सिमोन ने ही नहीं महादेवी वर्मा ने भी दबे स्वर मे यह बात कही है कि हमारे समाज की आंतरिक बनावट जिस तरह की रही है ,वहाँ स्त्री-पुरुष के बीच…Continue Reading →

क्योंकि तुम बेटे हो…

गीता यथार्थ विभिन्न मुद्दों पर अपनी बेबाक शैली में लेखन के लिए सोशल मीडिया पर काफी लोकप्रिय हैं।  हमने चुनी थी उनकी फेसबुक वॉल से ली गई एक बेहद संवेदनशील…Continue Reading →

आखिर ये शर्मिंदगी क्यों?

मैं एक मेडिकल कॉलेज के गर्ल्स हॉस्टल में तकरीबन दो सौ लड़कियों के साथ रह रही हूँ। मेरी सारी हॉस्टल मेट्स भावी डॉक्टर हैं… आने वाली पीढ़ी की जन्मदात्री होंगी ये।…Continue Reading →