एक लड़का जिसके लिए पीरियड्स पर बात करना झिझक का विषय नहीं

Bunty Tripathi

मेरा रंग के इस एपिसोड में मिलिए बंटी त्रिपाठी से, जो एक पुरुष होने के बावजूद पीरियड्स पर सोशल टैबू को खत्म करने में प्रयासरत हैं। उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए इस मुद्दे पर झिझक खत्म करने का प्रयास किया है। सच है, महिलाओं के लिए एक स्वाभाविक शारीरिक प्रक्रिया पीरियड्स कब तक उनके लिए शर्म और पुरुषों से छिपाने की बात बने रहेंगे। देखें हमारा यह वीडियो। 

https://youtu.be/Wa0yr0ExBPo

एक वैकल्पिक मीडिया जो महिलाओं से जुड़े मुद्दों और सोशल टैबू पर चल रही बहस में सक्रिय भागीदारी निभाता है। जो स्रियों के कार्यक्षेत्र, उपलब्धियों, उनके संघर्ष और उनकी अभिव्यक्ति को मंच देता है।
इसे भी देखेंः  #LahuKaLagaan की हकीकत जानना जरूरी है!

Leave a Reply