मेरा रंग के इस एपिसोड में मिलिए बंटी त्रिपाठी से, जो एक पुरुष होने के बावजूद पीरियड्स पर सोशल टैबू को खत्म करने में प्रयासरत हैं। उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए इस मुद्दे पर झिझक खत्म करने का प्रयास किया है। सच है, महिलाओं के लिए एक स्वाभाविक शारीरिक प्रक्रिया पीरियड्स कब तक उनके लिए शर्म और पुरुषों से छिपाने की बात बने रहेंगे। देखें हमारा यह वीडियो।