भारत का नाम संस्कृति, सभ्यता और महिलाओ के सम्मान के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है। जहाँ पर महिलाओ को देवी के रूप में पूजा जाता है। भारत में सभ्यता और संस्कृति के विकास के साथ वेश्यावृत्ति का भी चरम उभार हो चुका है।

पोस्ट मॉडर्न सोसाइटी में वेश्यावृत्ति के अलग-अलग रूप भी सामने आए हैं। रेड लाइट इलाकों से निकल कर वेश्यावृत्ति अब मसाज पार्लरों एवं एस्कार्ट सर्विस के रूप में भी फल-फूल रही है। गरीब और विकासशील देशों जैसे भारत, थाइलैंड, श्रीलंका, बांग्लादेश आदि में सेक्स पर्यटन का चलन शुरू हो चुका है। पुराने वक्त के कोठों से निकल कर देह व्यापार का धंधा अब वेबसाइटों तक पहुंच गया है।

बदलते परिवेश में जहाँ लड़कियां लक्ज़री लाइफ की चाह में इस पेशे को अपना रही है वही दूसरी ओर अब भी भारत में भूखे पेट को पालने के लिए जिस्म बेचती लड़कियां भी है, जो इन गरीब बस्तियों में रेड लाइट एरिया के नाम से जानी जाती है। भारत जैसे देश में रेड लाइट एरिया होना एक कलंक है। देश की शासन व्यवस्था और विकास के दावो पर ये एक जीता-जागता थप्पड़ है।

भारत जैसे देश में भी लंबे समय से महिलाएं देह व्यापार जैसे घिनौने धंधे में उतरने को मजबूर हैं। इसे विडंबना कहें या दुर्भाग्य कि आज भी देश में कई ऐसे इलाके हैं, जहां लड़कियां वेश्यावृति के लिए मजबूर हैं।

सोनागाछी
11 हजार उत्तरी कोलकाता के शोभा बाजार के पास स्थित चित्तरंजन एवेन्यू में स्थित इलाके में वेश्यावृत्ति से जुड़ी महिलाओं को बाकायदा लाइसेंस दिया गया है।

मुंबई
एक अनुमान के मुताबिक यहां तकरीबन 2 लाख सेक्स वर्कर्स का परिवार रहता है।

रेशमपुरा (मध्य प्रदेश)
जो पूरे मध्य एशिया में सबसे बड़ा वेश्यालय कहलाता है। हाईवे के किनारे बसा एक गांव है रेशमपुरा। इसे ग्वालियर का रेडलाइट एरिया जाता कहा है। इस रेडलाइट एरिया की लड़कियों को ट्रेनिंग देकर मुंबई के डांस बार और मिडिल-ईस्ट के देशों में भेजा जाता हैं।

मीरगंज (इलाहाबाद)
इलाहाबाद जो अपनी गंगा, जमुना और सरस्वती के संगम के चलते प्रयागराज तीर्थ के रूप में पूरे भारत में प्रसिद्ध है। लेकिन यहां बाजार चौक में मीरगंज इलाके में स्थित इतिहास एक रेडलाइट ऐरिया है जो तकरीबन डेढ़ सौ साल पुराना है.

शिवदासपुर (वाराणसी)
यहां की दालमंडी और शिवदासपुर जैसे इलाके सालों पुराने देह व्यापार की मंडिया हैं। कभी यह उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा रेड लाइट एरिया कहा जाता था। पहले लोग यहां तवायफों को नृत्य देखने आते थे। कहते हैं कि यहाँ पर औरतों से देह व्यापार का काम अंग्रेजों के समय में बहुत अधिक बढ़ गया था।

बुधवार पेठ (पुणे)
अनुमान है कि यहाँ पर 5 हजार के आसपास वेश्याएं देह व्यापार में लिप्त हैं। इसमें बड़ी संख्या नेपाल से आई या भगाकर लाई गई लड़कियों की है।

नागपुर
महाराष्ट्र की उप राजधानी नागपुर में इतवारी इलाके में गंगा-जमुना इलाका है, जहां वेश्यावृत्ति चलती है।

मुजफ्फरपुर
बिहार का मुजफ्फरपुर इलाका राज्य के बड़े रेडलाइट इलाकों में से एक है।

कहाड़ी बाज़ार(मेरठ)
पश्चिमी यूपी के बड़े शहर मेरठ में स्थित कबाड़ी बाजार बहुत ही पुराना रेड लाइट एरिया है।

हम चाँद तारों में बस्तियां बसाने की बात कर रहे हैं वही हमारे देश में एक तबका स्त्रियों का बदतर जीवन जीने को बाध्य है… डिमांड एंड सप्लाई के बाजार में जब तक डिमांड रहेगी…सप्लाई भी होती रहेगी….कभी मजबूरी में….कभी ज़ोर-ज़बरदस्ती से।

पूनम लाल सोशल मीडिया पर विभिन्न सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों पर अपनी बेबाक लेखनी के लिए जानी जाती हैं। यह आलेख हमने उनकी फेसबुक वॉल से लिया है।