सिमोन ने ही नहीं महादेवी वर्मा ने भी दबे स्वर मे यह बात कही है कि हमारे समाज की आंतरिक बनावट जिस तरह की रही है ,वहाँ स्त्री-पुरुष के बीच परस्पर प्रेम नहीं हो...

More