ये अंतिम रात मेरी तुम्हारे साथ थी…

कुछ प्रश्न मुझे हमेशा लहूलुहान कर देते हैं मैंने कभी अपना बचपन जिया ही नहीं। अनजाने ही अपने छोटे भाई-बहनों का दायित्व बड़ी बहन की जगह मां जैसा निभाने लग…Continue Reading →