Tagged: girl child

भारतीय समाज का ‘पर्दादार’ होना अब केवल एक भ्रम है

पोर्न उद्योग के विस्फोटक विकास के सामाजिक कारणों और परिणामों पर विस्तार से विचार किया जाना चाहिए। कच्चा मन स्वयं के शरीर और विपरीत लिंग के विषय में अनेक प्रश्नों से भरा है, प्रश्न...

More

लड़कियाँ गौरैया होती है

लड़कियाँ गौरैया होती है फुदकती हैं एक डाल से दुसरी डाल तक मुस्कुराती हैं अपने टेढ़े मेढ़े दांतो से पकड़ लेती हैं अपनी चोंच में कुछ टुकड़े अनाज के वो आंगन सूना होता है...

More

ये अंतिम रात मेरी तुम्हारे साथ थी…

कुछ प्रश्न मुझे हमेशा लहूलुहान कर देते हैं मैंने कभी अपना बचपन जिया ही नहीं। अनजाने ही अपने छोटे भाई-बहनों का दायित्व बड़ी बहन की जगह मां जैसा निभाने लग गई। 18-19 साल की...

More

मैं हूं एक लड़की

हां मैं हूं एक लड़की… कई रिश्तों कई नातों से बंधी बढ़ाया जो कभी कदम थी उसमें सबकी मर्जी चाहे हो न मुझे पसंद वो पर सुनती हूं मैं सबकी हां मैं हूं एक...

More