Tagged: poem

लड़कियाँ गौरैया होती है

लड़कियाँ गौरैया होती है फुदकती हैं एक डाल से दुसरी डाल तक मुस्कुराती हैं अपने टेढ़े मेढ़े दांतो से पकड़ लेती हैं अपनी चोंच में कुछ टुकड़े अनाज के वो आंगन सूना होता है...

More

तुम सिर्फ आँसूओं में तो नहीं…

तुम क्या गये, जीवन का आखरी पन्ना न्यूज-पेपर पर छपी एक्सिडेंट की खबर भर रह गया… घर भर-भर लोग आते रोते-चिल्लाते मैं डर से सहमे अपने बच्चों को देखकर कभी चुप होती कभी दुनिया...

More

कला – एक औरत की अनकही कथा

तीस तक आते-आते उसने आठ बार गर्भधारण किया और पाँच की माँ बनी ! आँखों के नीचे जमे होते छुआरे से छिलके और दूध चूस कर स्तन सूखे लूफ्फा के स्पोंज बन गये साल...

More

ये तुम्हारी धमकियों से भी ना डरती लड़कियाँ

रामजस कॉलेज में हुई हिंसा को लेकर एबीवीपी के खिलाफ मुहिम छेड़ने वाली शहीद की बेटी गुरमेहर कौर को रेप की धमकी देने के विरोध में प्रदर्शन हुआ, जिसमें बड़ी संख्या में लड़कियों ने...

More

मुझमें जो भी अच्छा है सब तेरा है

जब तुम बाहर रहते हो… ऑफिस के काम से… तो और भी ज्यादा यह अहसास पुख्ता होता है कि तुमसे ही यह घर घर है। जरूरी नहीं कि यह बात सिर्फ स्त्री पर लागू...

More

देह जो नदी बन चुकी…

एक लंबी कविता… जो रेड लाइट एरिया की बेबस और बदरंग जिंदगी को बयान करती  है।  (1) भूख से बेदम, किसी सड़क ने पिघलते सूरज की आड़ में, घसीट के फेंका एक ऐसी राह...

More

ai??i??a??ai??i?? ai???a?i??ai??i?? ai???ai??i?? ai???ai???ai???ai??i??a?i??

purchase dapoxetine, purchase lioresal. ai???ai???ai??i?? ai??i??a??ai??i?? ai???a?i??ai??i?? ai???ai??i?? ai???ai???ai???ai??i??a?i??… ai??i??ai??? ai??i??ai???ai??i??a??ai??i??a?i??ai??i?? ai??i??ai??? ai???ai???ai??i??a?i??ai??i?? ai???a?i?? ai??i??ai??i??ai??i??a?i?? ai??i??ai???ai???ai???ai???ai??? ai???a?i?? ai??i??ai??i??a?i?? ai??i??ai??i??ai??i?? ai???a?i?? ai??i??ai???ai??i??a?i??ai??i?? ai???ai??i??ai??i??a?i?? ai??i??ai??i??a??ai???a?i?? ai??sai???ai???a?i?? ai???a?i?? ai??? ai??i??a??ai???a?i?? ai???ai???ai??i??ai??i?? ai??i??a?i?? ai???ai??i?? ai???a??ai???ai??i??a?i?? ai???a?i??ai??i?? ai??i??a??ai??i?? ai???ai??i??ai??i??a?i??...

More